Chandrayaan-3: चंद्रयान-3 की सफल लॉन्चिंग 23 अगस्त का इंतजार!

Chandrayaan -3 Launching: 14 जुलाई का दिन भारतवासियों के लिए गर्व का दिन है । आज के दिन भारत के रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन इसरो ने चंद्रयान- 3 की सफल लॉन्चिंग की है। श्रीहरिकोटा से शुक्रवार दोपहर 2:35 बजे चंद्रयान-3 ने उड़ान भरी। 17वें मिनट में रॉकेट से अलग होकर 180 किमी की ऊंचाई पर तय कक्षा में पहुंचा। अब चांद की कक्षा की ओर बढ़ेगा।

Chandrayaan-3  Launching
WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now

Contents

Chandrayaan-3 की लागत:

इसरो के चेयरमैन एस सोमनाथ ने मीडिया को बताया था कि चंद्रयान-3 की लागत करीब 615 करोड़ रुपये है. उन्होंने आगे कहा कि लैंडर, रोवर और प्रोपल्शन मॉड्यूल की लागत 250 करोड़ रुपये है. और लॉन्च सेवाओं की लागत लगभग 365 करोड़ रुपये है। चंद्रयान 3 मिशन का नेतृत्व रितु करिधल श्रीवास्तव कर रही हैं।

आखिर chandrayaan-3 की लॉन्चिंग का क्या है मकसद:

सौरमंडल की उत्पत्ति के रहस्य खुल सकते हैं। और इंसानी कॉलोनी बनाने की संभावनाएं पता चलेंगी।

1.चंद्रयान-3 का उद्देश्य क्या है:

चंद्रयान का एक रोवर चांद की सतह पर उतरेगा। इससे दूसरे ग्रहों पर सॉफ्ट लैंडिंग की दक्षता हासिल होगी। भविष्य में इसरो दूसरे ग्रहों में उतरने व अध्ययन की योजना बनाएगा।

2.वहां लैंडिंग कराने का मकसद क्या है:

चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर पानी के प्रमाण चंद्रयान-2 ने दिए हैं। अगर हम इस पानी का उपयोग कर पाते हैं, तो मनुष्यों को बसाने की संभावना पैदा होगी। यहां की मिट्टी से सौर मंडल की उत्पत्ति के राज खुल सकते है.

Important Links

ISRO Official Website :– Click Here

Team Sarkari Nookari :- Click Here

Leave a comment