Makar Sankranti 2024 Date: मकर संक्रांति 2024 कब है 14 जनवरी या 15 जनवरी

Makar Sankranti 2024 Date: जैसे ही जनवरी के मध्य की ठंडी हवा पूरे भारत में चलती है, मकर संक्रांति के त्योहार को चिह्नित करते हुए, उत्सव का बहुरूपदर्शक विस्फोट शुरू हो जाता है। वर्ष का यह समय केवल ठंड के मौसम के बारे में नहीं है; यह एक ऐसा समय है जब भारत के भीतर विविध संस्कृतियाँ अपनी अनूठी परंपराओं और कहानियों का प्रदर्शन करती हैं। क्या आप जानना चाहते हैं कि मकर संक्रांति 2024 कब है तो हमारे साथ जुड़े रहें

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now

हिन्दूओं का एक महत्वपूर्ण पर्व, मकर संक्रांति, पौष महीने में मनाया जाता है, जब सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है। 15 जनवरी 2024 को पर्व मनाया जाएगा। इस पर्व से ऋतु परिवर्तन भी शुरू होता है, इसलिए स्नान करना और दान देना बहुत महत्वपूर्ण है। विशेष रूप से, इस दिन खिचड़ी बनाने और खाने की परंपरा है, इसलिए इसे खिचड़ी का पर्व भी कहा जाता है।

माना जाता है कि मकर संक्रांति पर सूर्य देव अपने पुत्र शनि से मिलने आते हैं। सूर्य और शनि की मित्रता इस पर्व को और भी विशिष्ट बनाती है। यह भी शुक्र का उदय है, जो शुभ कार्यों की शुरुआत है।

मकर संक्रांति 2024 कब है? (Makar Sankranti 2024 Date)

क्या आप जानना चाहते हैं कि 2024 में मकर संक्रांति कब मनाई जाएगी? या विभिन्न भारतीय राज्यों में विशिष्ट अनुष्ठान और समय? आइए विवरण में उतरें।

2024 में मकर संक्रांति 15 जनवरी को है। यह तिथि हिंदू सौर कैलेंडर द्वारा निर्धारित की जाती है, जो सूर्य के धनु से मकर राशि में संक्रमण को दर्शाता है। यह अवधि हिंदू कैलेंडर के सबसे ठंडे महीने माघ के साथ भी मेल खाती है।

मकर संक्रांति का शुभ मुहूर्त (Makar Sankranti 2024 Shubh Muhurat)

15 जनवरी, 2024 में मकर संक्रांति का शुभ मुहूर्त है। रात 2 बजकर 54 मिनट पर मकर राशि में सूर्य प्रवेश करेगा। पुण्यकाल सुबह 07:15 से शाम 06:21 तक चलेगा, और महापुण्यकाल सुबह 07:15 से 09:06 तक चलेगा।

मकर संक्रांति शुभ संयोग (Makar Sankranti 2024 Shubh Sanyog)

2024 में मकर संक्रांति पर 77 साल में पहली बार वरीयान योग और रवि योग मिलेंगे। इस दिन बुध और मंगल भी धनु राशि में होंगे। रवि योग सुबह 07:15 से 08:07 तक रहेगा, और वरीयान योग सुबह 02:40 से रात 11:11 तक रहेगा। इसके अलावा, सोमवार को मकर संक्रांति है, जिस दिन सूर्य और शिव का आशीर्वाद मिलेगा।

मकर संक्रांति का शुभ मुहूर्त (Makar Sankranti 2024 Shubh Muhurat)

मकर संक्रांति पूजन विधि (Makar Sankranti 2024 Pujan Vidhi)

मकर संक्रांति के दिन सुबह स्नान करके लाल फूल और अक्षत से सूर्य को अर्घ्य देना चाहिए। श्रीमदभागवद या गीता पढ़ें और सूर्य के बीज मंत्र का जाप करें। तिल, घी, अन्न और कम्बल का दान करें और खिचड़ी बनाकर भगवान को समर्पित करें। संध्या काल में भोजन न करें। इस दिन किसी गरीब को तिल देने से शनि की पीड़ा दूर होती है।

मकर संक्रांति के दिन करें ये खास उपाय (Makar Sankranti 2024 Upay)

  1. तिल के पानी से स्नान: मकर संक्रांति पर सुबह स्नान करते समय पानी में काले तिल डालने की परंपरा है। तिल के पानी से स्नान करने से मन और शरीर दोनों पवित्र होते हैं। इससे न केवल रोगों से शरीर बचता है, बल्कि आपका मन भी शांत होता है।
  2. सूर्य देव को जल अर्पित करें: सूर्य देवता को स्नान करने के बाद जल चढ़ाना भी बहुत महत्वपूर्ण है। तिल को जल में मिलाकर चढ़ाने से आपकी किस्मत खुल जाएगी। सूर्य देवता की पूजा भी आपको प्रेरणा और ऊर्जा देती है।
  3. दान की महत्वता: दान करना मकर संक्रांति के दिन बहुत महत्वपूर्ण है। इस दिन आप कंबल, गर्म कपड़े, घी, दाल, चावल की खिचड़ी और तिल देंगे।

द्वारा किए गए पापों का क्षय होता है और आपके जीवन में सुख और समृद्धि आती है। दान करने से न केवल आपको आत्मिक खुशी मिलती है, बल्कि आपको दूसरों से सहयोग करने की भावना भी मिलती है।

मकर संक्रांति का पर्व न केवल धार्मिक महत्व रखता है, बल्कि हमें प्रकृति और सृष्टि के प्रति सम्मान और कृतज्ञता व्यक्त करने का भी अवसर मिलता है। आज किए गए उपाय न केवल व्यक्तिगत सुख-समृद्धि लाते हैं, बल्कि सामाजिक एकता और सहयोग को भी बढ़ाते हैं। यदि आप इन उपायों को इस मकर संक्रांति पर अपनाते हैं, तो आप अपने और अपने परिवार के जीवन में समृद्धि और शुभता ला सकते हैं।

Leave a comment