Lathmar Holi 2024: बरसाने में लट्ठमार होली की धूम, जानें कैसे शुरू हुई यह परंपरा

ब्रजमंडल में होली के पर्व को बेहद उत्साह के साथ मनाया जाता है और इस त्योहार का होली के हुरियारों को बेसब्री से इंतजार रहता है।

मथुरा, वृंदावन, और बरसाना में रंग नहीं बल्कि लट्ठमार होली खेलने की परंपरा है.

लट्ठमार होली में हुरियारिन लट्ठ लेकर हुरियारों को मजाकिया अंदाज में पीटती हैं. वहीं हुरियार ढाल लेकर हुरियारिन से बचने का प्रयास करते हैं.

पौराणिक मान्यता के अनुसार जब कान्हा बरसाना आए थे गोपिकाओं के साथ-राधा कृष्ण ने लीलाएं की. उन्हीं में से एक लट्ठमार होली की परंपरा चली आ रही है.

इस वर्ष 18 मार्च को नंद गांव के हुरियारे बरसाना पहुंचेगे और वहां लट्ठमार होली खेली जायेगी.

नीलम कटरा हुरियारिन पिछले 12 वर्ष से बरसाना में लट्ठमार होली खेलती आ रही हैं.