Tulsi Vivah 2023: तुलसी विवाह कब है? यहां सही तिथि और मुहूर्त जानें

तुलसी विवाह 2023 कब है ?

कानपुर के ज्योतिषी मनोज कुमार द्विवेदी का अनुमान है कि इस साल का तुलसी विवाह 23 नवंबर को कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की देवउठनी एकादशी पर होगा। इस दिन भगवान शालिग्राम और माता तुलसी परिणय सूत्र में बंधेंगे।

तुलसी विवाह 2023 मुहूर्त

22 नवंबर को कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि रात 11.03 बजे से शुरू होगी। 23 नवंबर की रात 9 बजे इसका समापन होगा। एकादशी तिथि पर रात्रि पूजा का मुहूर्त शाम पांच बजे से रात आठ बजे तक रहता है। तुलसी विवाह इस मुहूर्त में आप चाहें तो कर सकते हैं। 

तुलसी विवाह की पूजा विधि

तुलसी विवाह के लिए सबसे पहले लकड़ी की एक चौकी पर आसन रखें।

गेरू से गमले को रंगें और चौकी के ऊपर तुलसी जी को रखें।

दूसरी चौकी पर भी आसन बिछाकर शालिग्राम रखें।

दोनों चौकियों के ऊपर गन्ने से मंडप सजाएं।

तुलसी विवाह की पूजा विधि

अब एक कलश में जल डालकर उसमें पांच या सात आम के पत्ते डालें. फिर पूजा स्थल पर उनके पत्तों को स्थापित करें।

तुलसी पर लाल रंग की चुनरी चढ़ाएं, चूड़ी,बिंदी आदि चीजों से तुलसी का श्रृंगार करें।

अब चौकी सहित शालिग्राम को हाथों में लेकर तुलसी की सात परिक्रमा करें।

पूजा समाप्त होने पर तुलसी और शालिग्राम की आरती करें और उनसे सौभाग्य और सुख की कामना करें।

तुलसी विवाह का महत्व

तुलसी विवाह करने से कन्यादान का समान फल मिलता है, इसलिए किसी को कन्या नहीं है तो तुलसी विवाह करके कन्यादान का पुण्य कमाना चाहिए। विधिपूर्वक तुलसी विवाह करने वाले लोग मोक्ष पा सकते हैं। साथ ही भगवान शालिग्राम और तुलसी का पूजन करने से मनोकामना पूरी होती है।